Skip to product information
  • Jinnah: Bharat Vibhajan Ke Aine Mein (Paperback – 1 January 2013)
  • Jinnah: Bharat Vibhajan Ke Aine Mein (Paperback – 1 January 2013)
  • Jinnah: Bharat Vibhajan Ke Aine Mein (Paperback – 1 January 2013)
1 of 3

Jaswant Singh

Jinnah: Bharat Vibhajan Ke Aine Mein (Paperback – 1 January 2013)

Regular price Rs. 564.00
Regular price Sale price Rs. 564.00
Sale Sold out
Inclusive of all taxes

CHECK OFFERS & DEALS FROM

Amazon

Cash on Delivery Not Available

1947 में भारत का विभाजन बीसवीं सदी की सबसे दुखांत घटना थी, जिसके ज़ख्म अभी तक नहीं भरे। इसके कारण चार पीढियों की मानसिकता आहत हुई। क्यों हुआ यह बंटवारा? कौन इसके लिए उत्तरदायी थे- जिन्ना, कांग्रेस पार्टी अथवा अंग्रेज? इस पुस्तक के लेखक जसवंत सिंह ने इसका उत्तर खोजने की कोशिश की है- संभवत कोई निश्चित उत्तर हो नहीं सकता, फिर भी अपनी ओर से पूरी ईमानदारी से खोज की हे, क्योंकि जिन्ना जो किसी समय हिन्दू मुस्लिम एकता के पैरोकार थे, कैसे भारत में मुसलमानों के एकमात्र प्रवक्ता बने और अंतत: पाकिस्तान के निर्माता और फिर कायदे-आज़म। इस परिवर्तन की प्रक्रिया कैसे हुई? 'मुस्लिम एक अलग राष्ट्र है' यह प्रश्न कब और कैसे उभरा और किस तरह भारत के विभाजन में इसकी परिणति हुई। पाकिस्तान को यह विभाजन कितना भारी पड़ा? बंगलादेश क्यों बना और आज़ पाकिस्तान की स्थिति क्या है? इन सब ज्वलन्त प्रश्नों की पड़ताल इस पुस्तक का विषय है। लेखक का विश्वास है कि दक्षिण एशिया में स्थायी शांति तभी होगी, जब इस प्रश्न पर गंभीरता से विचार किया जाए कि यह सब क्यों हुआ? अब तक किसी भारतीय या पाकिस्तानी राजनीतिज्ञ अथवा सांसद ने इस प्रश्न का विश्लेषण करते हुए जिन्ना की जीवनी नहीं लिखी। यह पुस्तक इस दिशा में सापेक्ष और ईमानदाराना प्रयत्न है।
  • Publisher ‏ : ‎ Rajpal & Sons; 2013th edition (1 January 2013)
  • Language ‏ : ‎ Hindi
  • Paperback ‏ : ‎ 576 pages
  • ISBN-10 ‏ : ‎ 8170288371
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-8170288374
  • Item Weight ‏ : ‎ 635 g
  • Dimensions ‏ : ‎ 20.3 x 25.4 x 4.7 cm

Refund & Exchange policy

We have a 7-day return policy, which means you have 7 days after receiving your item to request a refund / exchange.

To be eligible for a refund / exchange, your item must be in the same condition that you received it, unworn or unused, with tags, and in its original packaging.

Opened electronic items and appliances cannot be returned or exchanged.

Customer Reviews

No reviews yet
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
  • Search, Compare, Buy

    A platform for product selection, price comparison and bargain shopping.

  • Hassle-Free Shopping

    Bonuses, discounts, free shipping and much more directly on the Marketplace.